How to Make your child stronger with Turmeric Milk

turmeric-haldi

  हल्दी प्राचीन काल से ही भारतीय किचन का एक common मसाला रहा है, कोई भी सब्जी बिना

हल्दी, मिर्च, salt के बिना नहीं पकाई जाती। हल्दी के powder को अगर आप एक चमच्च में ले कर

चख कर देखे तो इसका testes कुछ कड़वासा लगता है।


  जैसा के हम सब भारत में देखते है, के हम सभी के घरो में हल्दी, नमक,मिर्च और गर्म मसाले सभी

की किचन में अवशय ही मिलते है। ये सभी मसाले Vegetables के test को ही नहीं बढ़ाते बल्कि ये सब

ओषधि भी है, हल्दी और ये दूसरे मसाले anti fungal , antibacterial , antiviral होते है| ये सब हमारे शरीर

की पर्तिरोधक क्षमता को बढ़ाता है| इस से हम रोगो से बचा सके|

   भारतीय समाज मे रात में खाना खाने के एक दो घंटे के बाद जब हम सोते है, तो सोने के समय माताए

अपने बच्चों को हल्दियुक्त मिल्क पीने के लिए देती है| 

यह मिल्क बच्चों के लिए स्वास्थ्य वर्धक tonic का काम करता है|

हल्दी blood से toxic दुर करता है, और लिवर को साफ करता है|

पेट से सम्बन्धित रोगो की समस्याओ को दुर करता है|


 “According to “ Indo-America research” में पाया गया है, की हल्दी  cancer cells को भी kill करने में साहयक होती है|

हल्दी में पाया जाने वाला एंटीबायोटिक तत्व और दूध में कैल्शियम की प्रचुरता दोनों मिलकर हड़ियो को मजबूत बनाते है।

India में हम देखते आये है,की जब किसी को शरीर में कोई चोट लग जाती थी तो उसे तुरंत हल्दियुक्त दूध पिलाया जाता था।

Elements in Turmeric

Carbohydrate – 60-70%

Protein- 6-8%

Fat- 5-10%

Minerals- 3-7%

oils- 3-7% 

Fibers- 2-7%

curcuminoids- 1-6%

water – 6-13%

How to take Milk with Turmeric

दूध को समान्तय दिन या रात में किसी भी समय पिया जा सकता है लेकिन India में लोग इसे रात को सोने के

समय पीते है। दूध को उबालने के बाद इस में थोडीसी मात्रा सुगर मिला लेते है। इसके बाद जैसे हम आटे में

नमक मिलाते है। उसी प्रकार से अपने टेस्ट के अनुसार बहुत थोडीसी मात्रा हल्दी पाउडर मिला लेते है।