छोटे बच्चो के पेट में कीड़ो की रोकथाम के लाभकारी उपाए

 

   सामान्यतः आपने देखा होगा की घरो में छोटे बच्चो के पेट में कीड़े होने की शिकायत बनी रहती है। छोटे बच्चे अपनी देखभाल स्वं नहीं कर सकते। वह इसके लिए दुसरो पर निर्भर रहते है। जैसे माताए या परिवार के दूसरे सदस्य। पेट में कीड़े एक परजीवी प्राणी के कारण होते है।वसे तो एलोपेथी और होम्योपैथी में बहुत सी दवाइया है। जिससे पेट से कीड़ो की समस्या दूर की जा सकती है लेकिन घरेलू नुख्सो से भी इलाज सम्भव हो सकता है। अगर सावधानी न रखी जाये तो पेट में कीड़े की समस्या वयस्क में भी हो सकती हैं। बच्चो में यह अधिक दिखाई देती हैं। यह समस्या विकसित देशों में कम और विकासशील देशो में अधिक देखने को मिलती हैं।

Stomach warms होने के कारण

A. मिटी के सम्पर्क में आना
B. जानवरो के सम्पर्क में आना

  1. जब बच्चे घर में या आँगन में नंगे पैर घूमते है या गुडलियो घूमते है तो वह संक्रमित मिट्टी के सम्पर्क में आते है और वह परजीवी के अंडे बच्चो के शरीर में मुख से परवेश करते है।

    2. अच्छी तरह से साफ न की हुए फल व् सब्जियो से भी बच्चों के पेट में कीड़े हो सकते है।

    3. दूषित पानी और दूषित भोजन भी बच्चो के पेट में कीड़ो का कारण हो सकता है।

बच्चे के पेट में कीड़ो की पहचान

  1. सोते समय बच्चे का दातो को पीसना।

    2. सोते समय मुँह से लार आना।

    3. बच्चे का चिड़चिड़ा होना।

    4. बच्चे की सेहत कमजोर होते जाना।

1. सुबह उठने के बाद सबसे पहले 20 ग्राम गुड़ खाकर ऊपर से 1 ग्राम अजवायन का चूर्ण खाने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।

2. जिस छोटे शिशु के पेट में कीड़े होते हैं तो उन छोटे शिशिओ की गुदा में कभी कभी कीड़े रेंगते हुए दिखाइए देते हैं। ऐसी अवस्था में हींग

को पानी में घोलकर फोय को घुले हुए हींग में भिगो कर और पीड़ित बच्चे की गुदा में रुई का फोहा थोड़ी देर के लिए रख दे, तो इसमे भी पेट

में कीड़े मर जाते हैं।

3. दो सप्ताह तक लगातार एक गिलास गाजर का रस सुबह खाली पेट पीने से पेट के कीड़े मर कर मलद्वार से बाहर आ जाते हैं।

4. एक चम्मच शहद में दो चम्मच दही मिलाकर चाटने से पेट के कीड़े मरकर मलद्वार से बहार निकल जाते हैं।

5. एक चम्मच पीसे हुए बथुए के बीज लेकर और उसमे थोडासा शहद मिलाकर चाटने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।

6. पेट के कीड़े नष्ट करने की दवाई देने से पहले रोगी को गुड़ खिलाय। इससे आंतो में चिपके हुए कीड़े भी गुड़ खा लेते हैं।

फिर उसके बाद दवाई लेने से पेट के कीड़े आसानी से नष्ट हो कर मलद्वार से बहार आ जायेंगे।

सावधानी

पेट के कीड़ो से ग्रषित रोगी को कुछ सावधानी भी रखनी आवश्यक हैं।

पेट के कीड़ो से पीड़ित रोगी को गरिष्ट पदार्थ, मिठाईया, टॉफी, चॉकलेट, बासी भोजन, सड़े गले पदार्थ और अन्य मीठी

वस्तुओ से खाने से परहेज करना चाहिए।

जिस जगह पर रहे वह स्थान साफ होना चाहिए।

हमेशा साफ हाथो से भोजन करें।

पेट में कीड़े जानवरो के कारण भी हो सकते हैं। अतः छोटे बच्चो को जानवरो के स्थान से दूर रखा जाय तो रखना चाहिए।