क्या आप जानते है, रोटी कितने गुणों से भरपूर है

  भिन्न भिन्न प्रकार की रोटी से मिलने वाली एनर्जी

 

      (energy from different types of breads)

     आजकल का जमाना पिज़ा बर्गर का है। बच्चो से लेकर बड़ो तक सभी के यह धारणा बन गई है। की फास्टफूड रोटी की जगह ले सकती है। लेकिन यह सब आप प्रतिदिन नहीं खा सकते। रोटी का स्थान सिर्फ रोटी ही ले सकती है। और भोजन में रोटी सर्वोपरि है। कारण यह है की वह शुद्ध अनाज से बनाई जाती है। उसे बनाने का तरीका भी वैज्ञानिक है। बड़े बुजुर्ग लोग कहते हुए मिल जायगे की गर्म गर्म रोटी खाने में, जो आनंद आता है, वह किसी अन्य खाने में नहीं।


    इसका नियमित सेवन आपको कई बिमारिओ से बचाता है। गेहू की एक रोटी में 57 कैलोरी ऊर्जा होती है। इसमें मौजूद आयरन, कैल्शियम, पोटेशियम और सेलेनियम कई बिमारिओ को दूर करने में मददगार है। गेहू की रोटी में कलेस्ट्रॉल बिलकुल नहीं होता। इसलिए ह्रदय सम्बन्धी बिमारिओ को दूर करने में यह मददगार है।


   रोटी में स्लेनियम होता है। जो कैंसर की आशंका को कम करता है। गेहू की रोटी में मौजूदा आयरन खून की कमी को दूर करने में मददगार है। इसी तरह रोटी में मौजूद प्रोटीन और कैल्सियम मांसपेशियों को मजबूत बनाते है। इन ढेरो फायदों के साथ गेहू की रोटी खाने से शरीर में इंसुलिन और ग्लूकोज (Glucose) का संतुलन भी बना रहता है। इसलिए डयबिटीज में यह लाभकारी है। ब्लड प्रेशर को नार्मल रखने में रोटी की अहम भूमिका है। फाइबर की मात्रा निरन्तर अधिक होने से रोटी का सेवन पथरी की आशंका को कम करता है। गेहू की रोटी में फाइबर और कार्बोहैड्रेट होते है जो हमारी पाचन किर्या को ठीक रखते है।


  पहले अनाज पीसने के लिए थकाने बाली चकिया या फिर ओखली, मूसली जैसे कूटने के सिमित साधन थे।

अनाजों से मिश्रित आटे की रोटियाँ

 

    प्रतिदिन की रोटी के लिये मल्टीुग्रेन (Multigrain) आटा घर पर तैयार किया जा सकता है विभिन्न अनाजों जैसे जौ का आटा, बाजरा, रागी, काला चना आटा, मकई आटा, सोया को सामान्यतया इस्तेमाल किए जाने वाले गेहूं के आटे में मिलाने से लौह, कैल्शियम, फास्फोरस पोषक तत्व से चमत्कारी भोजन के रूप में बदला जा सकता है। बाजरा कैल्शियम व लौह से भरपूर है, व हड्डियों के स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ है। रोटी मे रेशे व लौह प्रचुरता से पाया जाता है, और छोटे बच्चे भी इसे आसानी से पचा सकते है। इन आटों को विकल्प के तौर पर रोटी मे मिलाने से यह हड्डियों के स्वास्थ्य, स्वस्थ दाँतों के लिये लाभदायक होंगे, और खून की कमी को दूर करेंगे।

अलग प्रकार की रोटी में भिन्न भिन्न प्रकार की एनर्जी होती है।


 1. गेहू की चपाती में 57 कैलोरी एनर्जी देती है।
 2. बाजरे की रोटी 97 कैलोरी देती है।
 3. नाचनी रोटी 88 कैलोरी
 4. मक्का की रोटी 153 कैलोरी
 5. भाखरी रोटी 66 कैलोरी
 6. थालीपीठ 100 कैलोरी
 7. मिस्सी रोटी 140 कैलोरी
 8. तंदूरी रोटी 116 कैलोरी
 9. रुमाली रोटी 78 कैलोरी
10. ग्वार की रोटी 30 कैलोरी