क्या शरीर को सही रखने के लिए एक दो योग पर्याप्त है

  अगर आप पूरी दुनिया में देखेगे कौनसी exercise सबसे अधिक trends में है, तो वह है yoga। 

हमे अपने शरीर को रोगो से दूर रखना है, तो हमे दो बातो का ध्यान रखना अति आवश्यक है।


1. खान पान

  कहते है, जैसा इंसान सोचता है वैसा ही उसका environment होता है, जैसा इंसान खाता है, वह

उसके शरीर पर प्रभाव डालता है।


2. दिन चर्या

  आज सभी देशों में योग को पसंद करने वाले लोग मील जायेंगे चाहे वो अमेरिका, यूरोप, एशिया या

अफ्रीका में हो। ऐसा नहीं है के योग अभी प्रकट हो कर दुनिया के सामने आ गया है, योग भारत में हजारों

सालों से है। यह वैदिक काल से भारत में लोग करते आ रहे है। लेकिन 850 सालों तक विदेशी शासको के आने

से यह संस्कृति पीछे छूटती चली गई। यह एक अलग विषय है।

  सवेरे के 3-5 बजे के समय को भारत में ब्रह्म मुहूर्त माना गया है, भारतीय शास्त्रों में इस समय

को भगवान की उपासना और योग के लिए सबसे उपयुक्त माना गया है। अगर आप कुछ भी

exercise नहीं करते है, तो आप सिर्फ दो व्याम अवशय कर सकते है।

यह health के लिए लाभकारी सिद्ध हो सकता है।

1. अनुलोम विलोम

  योग के महत्व को जानकर world के लोग अब इस चमत्कारी exercise को अपनाने लग गए है।

अगर आप अपने काम में बहुत अधिक व्यस्त है फिर भी 15-30 minutes अपने Health के लिए योग क़र सकते है।

अनुलोम विलोम एक easy योग है। इस को हम घर के आँगन या आसपास के किसी park में भी क़र सकते है।

अनुलोम विलोम में आप चौकड़ी मार क़र बठ जाते है। शरीर को relax position में रख क़र अपने right side के

hand को अपने नाक की right side की नासिका को थोड़ा सा दबा देते है। नाक क़े दूसरी side की नासिका से

breath को अंदर क़े तरफ खींच लेते है। फिर breath को दूसरी साइड से धीरे धीरे बाहर की और छोड़ते है।

जिस नासिका से breath बाहर छोड़ते है, उसी से फिर साँस को अंदर की और खींचते है। यह एक step पूरा होता है।

 यह exercise तब तक करते है, जब तक आप सुचारु रूप से कर सकते है।

अनुलोम विलोम योग के लाभ  

  1. शरीर में ओक्सिजन की मात्रा को बढ़ाता है।

     2. फेफड़ो को मजबुती प्रदान करता है।

     3. खासी जुखाम से छुटकारा पाने में साहयक होता है। 

     4. heart को मजबूत बनाता है।

 

2. कपालभारती

  कपालभारती में हम पहले पद्मासन में बठ जाते है। फिर दोनों हाथों को उठा कर अपने घुटनो के ऊपर रख कर मुद्रा

बना लेते है। कमर को सीधा रखते है। फिर breath को lungs के अंदर की और खींच कर बाहर निकालते है।

यह प्रकिर्या सुबिधा अनुसार बार बार repeat करते है।

कपालभारती योग के लाभ

1. यह योग आपकी आँखों के नीचे पड़े काले धब्बे साफ करने में साहयक होता है।

2. यह पेट के कब्च, Acidity से छुटकारा पाने में साहयक हो सकता है।

3. साँस की बीमारीओं से मुक्ति दिला सकता है।

यह दोनों योग आपका बहुत अधिक समय नहीं लेगे और आपको शारीरिक व् मानसिक रूप से

लाभकारी सिद्ध हो सकते है। जब आप प्रतिदिन यह करते रहेंगे तो कुछ दिन बाद आप स्वम् ही

इसके गुणों को महसूस करेंगे।